राज्‍य सभा  
संसदीय समाचार भाग - 2
              
सं.  57526 सोमवार, 5 फरवरी 2018                                              पुस्‍तकालय और संदर्भ एकक
संसदीय संग्रहालय और अभिलेखागार में अभिलेखीय/ऐतिहासिक सामग्री का संग्रह तथा संसदीय संग्रहालय और अभिलेखागार में उपलब्ध अभिलेखीय पुस्तकें और फोटोग्राफ

                लोक सभा सचिवालय के संसदीय संग्रहालय और अभिलेखागार में संसदीय संस्थाओं तथा भारत के संविधान के उद्गम, विकास और कार्यकरण से संबंधित बहुमूल्य अभिलेखों, ऐतिहासिक दस्तावेजों तथा आलेखों का अर्जन, भंडारण और परिरक्षण किया जाता है। यह महसूस किया गया है कि इन वस्तुओं, जो हमारी राष्ट्रीय धरोहर का हिस्सा हैं, का संग्रहण, वैज्ञानिक रखरखाव और परिरक्षण किया जाए ताकि भावी पीढ़ी इनका लाभ उठा सके।

                सदस्यों से अनुरोध है कि उनके पास सांसदों और स्वतंत्रता सेनानी के रूप में उनके जीवन तथा कार्यकलापों से संबंधित उपलब्ध सामग्री यथा, निजी पत्राचार, टिप्पण, आलेख, अभिलेख, पांडुलिपि, भाषण, संस्मरण, डायरी, अवशेष, कलाकृतियां, स्मृति चिह्न, वैयक्तिक चीजें और संकलन, चित्र, फोटो या अभिलेखीय/ऐतिहासिक महत्व की किसी अन्य सामग्री के स्थायी परिरक्षण तथा प्रदर्शन हेतु उन्हें संसदीय संग्रहालय और अभिलेखागार, एफ.बी. 094, संसद ग्रन्थालय भवन (दूरभाष संख्या 23034131, 23034226, फैक्स सं. 23035326) में जमा कराएं। इन सामग्रियों से संसदीय संग्रहालय और अभिलेखागार समृद्ध होगा और ये शोध कार्य के लिए उपयोगी सिद्ध होंगी। यदि सदस्य चाहें तो प्रदान की गई सामग्री, आवश्यक प्रतिलिपियां बनाने के बाद लौटा दी जाएगी। सामग्री की छंटाई तथा इन्हें सूचीबद्ध करने में उन्हें हर प्रकार की सचिवालयी सहायता उपलब्ध कराई जाएगी।

                संसदीय संग्रहालय और अभिलेखागार (पी.एम.ए.) में संसद सदस्यों पर लिखी गयी 724 पुस्तकें हैं। इन पुस्तकों का अध्ययन करने के इच्छुक सदस्य पी.एम.ए. से सम्पर्क कर सकते हैं।

                फोटो अभिलेखागार में भी संसदीय घटनाओं से संबंधित 19000 फोटोग्राफ और पहली से पंद्रहवीं लोक सभा तक के संसद सदस्यों के पासपोर्ट आकार के फोटोग्राफ हैं। इन सभी फोटो का डिजिटलीकरण किया गया है जो शाखा में उपलब्ध सॉफ्टवेयर के जरिए की-वर्ड की सहायता से माउस क्लिक करते ही पुन: देखी जा सकती है।

                सदस्यों का सहयोग अपेक्षित है।

देश दीपक वर्मा
महासचिव