राज्‍य सभा  
संसदीय समाचार भाग - 2
              
सं.  56557 सोमवार, 10 अप्रैल 2017                                              बिल ऑफिस
5 से 7 अप्रैल, 2017 के दौरान विधेयकों की प्रगति

क्र. सं.

विधेयक का नाम

प्रभारी मंत्री/ सदस्य

प्रगति

             सरकारी विधेयक

  1.

फुटवियर डिजाइन और विकास संस्थान विधेयक, 2017.

श्रीमती निर्मला सीतारमण

विधेयक, लोक सभा द्वारा पारित रूप में, 5 अप्रैल,  2017 को  राज्य सभा के पटल पर रखा गया ।

2.

केंद्रीय माल और सेवा कर विधेयक, 2017.

 

 

श्री अरुण जेटली

 

5 अप्रैल, 2017 को उपस्थित किए गए प्रस्ताव पर 6 अप्रैल, 2017 पर आगे विचार जारी रहा और विधेयक, लोक सभा द्वारा पारित रूप में, उसी दिन राज्य  सभा द्वारा  लौटाया गया।

3.

 

एकीकृत माल और सेवा कर विधेयक, 2017.

4.

 

माल और सेवा कर (राज्यों को प्रतिकर) विधेयक, 2017.

5.

संघ राज्यक्षेत्र माल और सेवा कर विधेयक, 2017.

6.

कराधान विधि (संशोधन) विधेयक, 2017

 

श्री अरुण जेटली

विधेयक, लोक सभा द्वारा पारित रूप में, 6 अप्रैल, 2017 को  राज्य सभा के पटल पर रखा गया।

7.

नाविक भविष्य-निधि (संशोधन) विधेयक, 2017.

श्री मनसुख एल. मांडविया

विधेयक, राज्य सभा में पुर:स्थापित रूप में, 7 अप्रैल, 2017 को सभा की अनुमति से वापस लिया गया।

 

गैर-सरकारी सदस्यों के विधेयक

1.

 

आर्सेनिक संदूषण  (निवारण) विधेयक, 2017

श्री नीरज शेखर

7 अप्रैल, 2017 को पुर:स्थापित किया गया।

2.

संविधान (संशोधन) विधेयक, 2017 (अनुच्छेद 83 और 172 का  संशोधन)

श्री नारायण लाल पंचारिया

7 अप्रैल, 2017 को पुर:स्थापित किया गया।

3.

घरेलू कर्मकार (कार्य का विनियमन और सामाजिक सुरक्षा) विधेयक, 2017.

श्री ऑस्कर फर्नांडिस

7 अप्रैल, 2017 को पुर:स्थापित किया गया।


 

4.

संविधान (संशोधन) विधेयक, 2017  (नए  अनुच्छेद 330क, 330ख, 332क और 332ख का अंत:स्थापन)

श्री वि. विजयसाई रेड्डी

7 अप्रैल, 2017 को पुर:स्थापित किया गया।

5.

लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण (संशोधन) विधेयक, 2016.

डा. सुब्रमण्यम स्वामी

7 अप्रैल, 2017 को विधेयक पर आगे विचार जारी रहा और इसी दिन सभा की अनुमति से इस विधेयक को वापस किया गया।

6.

संविधान (संशोधन) विधेयक, 2016 (आठवीं अनुसूची का संशोधन)

श्री बी. के. हरिप्रसाद

विधयेक पर विचार हेतु प्रस्ताव  7 अप्रैल,  2017 को  उपस्थित किया गया परंतु चर्चा समाप्त नहीं हुई।

शमशेर के. शरीफ
महासचिव